m

m
सूर्योदय

Monday, April 21, 2014

दसवीं पास दामाद...

यदि दसवीं पास को,
दामाद बनने से,
करोड़ों मिल जाये।
तो...
दहेज की समस्या के दिन
अपने आप ही ढल जायें॥
बिना किसी कानून के
रिश्ते सुधर जायें॥
एक लड़की के बाप के
नीमन रहें जूते,
न घिसे पाँव
न दौड़ें चरण-छूते॥

No comments: